Pages

GST में रिवर्स चार्ज का अर्थ एवं, सेवाएँ जिन पर रिवर्स चार्ज लागू होता हैं .

रिवर्स चार्ज का अर्थ  - 

GST में सामान्यत: Supplier यानि वस्तु या सेवा को बेचने वाला व्यक्ति Customer से GST चार्ज करता हैं और सरकार को जमा करवाता हैं| लेकिन कुछ परिस्थितियों में GST की जिम्मेदारी Supplier पर न होकर Receiver यानि वस्तु या सेवा खरीदने वाले व्यक्ति पर होती हैं, इसे ही Reverse Charge Mechanism (RCM) कहते हैं| Reverse Charge में क्रेता GST का भुगतान विक्रेता को न करके सीधा सरकार को जमा को जमा करवाता हैं| कुछ परिस्थितियों में Partial Reverse Charge भी होता हैं यानि कि GST के कुछ भाग की जिम्मेदारी क्रेता पर और बाकी हिस्से की जिम्मेदारी विक्रेता पर होती हैं|

उदाहरण के लिए अगर कोई व्यक्ति किसी Service को Import करता हैं तो यह परिस्थति रिवर्स चार्ज में आती हैं इसलिए इस परिस्थति में क्रेता ने जितनी Value की Service Import की हैं, उस पर वह GST Calculate करके सरकार को जमा कराएगा|

Reverse Charge में GST Registration

सामान्य रूप से GST में Registration करवाने की जरूरत तब पड़ती हैं जब उसका वार्षिक विक्रय छूट सीमा यानि कि 20 लाख रूपये ( उत्तरी पूर्वी राज्यों में 10 लाख रूपये) से अधिक हो| लेकिन अगर कोई व्यक्ति जो Reverse Charge के अंतर्गत Liable हैं तो उसे Registration करवाना पड़ेगा, भले ही उसकी Annual Sale जीएसटी की छूट सीमा से कम हो| उदाहरण के लिए अगर कोई फर्म, कंपनी या व्यापारी किसी Lawyer यानि कि वकील की सेवाएँ अपने व्यापार के लिए लेता हैं तो वह Reverse Charge में Liable हैं ऐसी परिस्थति में उस फर्म या कंपनी को GST में रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ेगा भले ही उसका turnover कितना भी हो|

सरकार ने कुछ सेवाएँ नोटिफाई की हैं और ऐसी परिस्थितियों में GST की जिम्मेदारी विक्रेता पर न होकर क्रेता पर होगी| ऐसी सेवाएँ निम्न प्रकार हैं –

सेवाएँ जिन पर रिवर्स चार्ज लागू होता हैं – Services Covered Under RCM

  1. सेवाओं का आयात -Import of Services
  2. ट्रांसपोर्ट एजेंसी की सेवाएँ – Goods Transport Agency Services (GTA)
  3. वकीलों द्वारा प्रदान की गई कानूनी सेवाएँ -Legal Services Provided By Advocates
  4. ओला उबेर जैसी कैब सेवाएँ – Cab Services Provided Through E-Commerce Operators (इसमें GST Charge करने और सरकार को जमा कराने की जिम्मेदारी कैब कंपनी की होगी )
  5. डायरेक्टर द्वारा कंपनी को दी गयी सेवाएँ Services Provided by Director to Company
  6. Services Provided By Arbitral Tribunal
  7. Sponsorship Services
  8. Services Provided By Government or Local Authority
  9. Services Provided by Insurance Agent to Insurance Company
  10. Services Provided by Recovery Agent to Banking/Finance Company or NBFC
  11. Transport of Goods in a Vessel From Place Outside India to Custom Station India
  12. Transfer of Copyright relating to Original Literary, Dramatic, Musical or Artistic works

No comments:

Post a Comment

M1

LIVE - बजट 2018 BUDGET 2018

 LIVE - बजट 2018 BUDGET 2018 : Here are the live updates on Union Budget 2018     ( FOR LIVE & LATEST UPDATE ON Budget 2018 - RE...